देशभक्ति शायरी | Heart Touching 2019 Desh Bhakti Shayari | दर्द भरी शायरी

Raena Online Coach · 2,370,628 views
देशभक्ति शायरी | Heart Touching Desh Bhakti Shayari | दर्द भरी शायरी

Like, Comment and Share this video with everyone you love.

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है
यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं, है गर्व मुझे इस देश पर क्यूंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है।
आजाद, भगत सिंह जैसे, इस देश में जन्में वीर यहाँ, कुर्बानी की इनकी गाथाएं गाता है ये सारा जहाँ।
भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसे पापों का जब पतन होगा, हो जाएगा खुशहाल ये जीवन खुशहाल ये मेरा वतन होगा।
हाथ जोड़कर नमन जो करते, मत समझो कि कमजोर हैं हम उठाओ कथायें इतिहास की तो छाये हुए हर ओर हैं हम।
सच्चाई की राह पर चलते, नहीं मन में कोई बुरी भावना उन्नत हो ये देश हमारा, अपनी तो बस यही कामना।
हर रोज नया दिन, हर रोज नया पर्व है, विविधताओं से भरे इस देश पर मुझे गर्व है।
उत्तर में है खड़ा हिमालय, दक्षिण में सागर मचल रहा, पूरब से सूरज निकला देखो, पश्चिम प्रगति में बदल रहा।
न तीर से न तलवार से हम समझाएं पहले प्यार से हम, जो टकराता है फिर भी हमसे, मिटा दें उसको पहले वार से हम।
सारा संसार ये जानता है हमारी जो भी पहचान है, संस्कृत से संस्कृति हमारी हिंदी से हिन्दुस्तान है।
गद्दार थे वो लोग जिन्होंने सरहद पर रेखा खींची है, यूँ ही नहीं मिली आज़ादी हमको, इसे शहीदों ने खून से सींची है।
जन्म लिया जिस देश में मैंने. ह्रदय से उसको नमन हो, ख्वाहिश बस इतनी है मुझको, मरते वक़्त तिरंगा मेरा कफ़न हो।
पूरा सम्मान वो पाएगा, मेहमान जो बन कर आएगा, जो आँख उठी दुश्मन की तो, मिटटी में मिलाया जाएगा।
ऐसा देश नहीं है कोई जिसने यह रीत अपनाई है, देश को कहते माता और लोगों को कहते भाई हैं।
ऐसा सुकून कहीं नहीं मिलता चाहे घूमो सारा जहान, दिल में एक नाम जो धड़के, वो है अपना हिन्दुस्तान।
मेरा देश जल रहा है किसी को क्या सुनाऊँ , मेरा देश जल रहा है मैं ख़ुशी कहाँ से लाऊँ , मेरा देश जल रहा है
तम्हें यह गिला है दोस्त क्यों है मिज़ाज बेरहम कहो कैसे मुस्कुराऊँ , मेरा देश जल रहा है
तुम्हें तीज त्यौहार की ख़ुशी है , मुझे याद है वो लेकिन मैं यह कैसे भूल जाऊं , मेरा देश जल रहा है
है डगर डगर असारत , है क़दम क़दम शहादत सर -ऐ -राह न डगमगाओ , मेरा देश जल रहा है
मेरा ज़ख़्मी ज़ख़्मी है सीना , तो लहू लहू है पसीना मैं निशात कैसे पाऊँ , मेरा देश जल रहा है

Follow me :-

► Facebook: https://www.facebook.com/profile.php? />
id=100011643765068
► Twitter:
https://www.facebook.com/profile.php? /> ► Google+: https://www.facebook.com/profile.php? /> ► Website: https://www.facebook.com/profile.php? />
Heart Touching Desh Bhakti Shayari :-

https://www.facebook.com/profile.php? /> https://www.facebook.com/profile.php? /> https://www.facebook.com/profile.php? /> https://www.facebook.com/profile.php? /> https://www.facebook.com/profile.php? />
►Kadak Attitude Status
https://www.facebook.com/profile.php? /> ►Best Attitude Status For Boys https://www.facebook.com/profile.php? /> ►Boys Attitude Status https://www.facebook.com/profile.php? /> ►Attitude WhatsApp Status For Lion https://www.facebook.com/profile.php? /> ►PlayBoys WhatsApp status https://www.facebook.com/profile.php? />

Subscribe to our channel:
https://www.facebook.com/profile.php? />
देशभक्ति शायरी | Heart Touching Desh Bhakti Shayari | दर्द भरी शायरी
https://www.facebook.com/profile.php?